central-government-increases-msp-rabi-crops-marketing-season-2024-25-details-checkcentral-government-increases-msp-rabi-crops-marketing-season-2024-25-details-check

केंद्र सरकार ने गेहूं, सरसों और अन्य रबी फसलों की एमएसपी में वृद्धि की घोषणा की

Delhi: कृषि क्षेत्र में आई खुशखबरी के साथ, केंद्र सरकार ने रबी सीजन 2024-25 के लिए रबी फसलों की मंडी मूल्य या एमएसपी में वृद्धि की घोषणा की है। इस घोषणा के अनुसार, गेहूं की एमएसपी(MSP) को 2275 रुपये प्रति क्विंटल और सरसों की एमएसपी को 5650 रुपये प्रति क्विंटल किया गया है। इसके साथ ही, मसूर, जौ, चना, और कुसुम की एमएसपी में भी वृद्धि की गई है। यह फैसला 1 अप्रैल 2024 से प्रभावी होगा।

एमएसपी में वृद्धि का विवरण

इस घोषणा के अनुसार, रबी सीजन की मुख्य फसलों में से मसूर के लिए सबसे अधिक वृद्धि की गई है, जिसमें एमएसपी को 425 रुपये प्रति क्विंटल तक बढ़ाया गया है। इसके बाद, सरसों की एमएसपी को 200 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाया गया है। गेहूं (wheat msp) और कुसुम के लिए भी एमएसपी में 150 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि की गई है। जौ के लिए 115 और चने के लिए 105 रुपये प्रति क्विंटल की वृद्धि की गई है।

केंद्र सरकार की पहल: किसानों की आर्थिक सुरक्षा में वृद्धि

यह निर्णय केंद्र सरकार के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नेतृत्व में आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति द्वारा लिया गया है। इससे किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य में वृद्धि होगी, जिससे उनकी आर्थिक सुरक्षा में सुधार होगा। यह निर्णय किसानों को स्थिरता और समृद्धि की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।

मसूर, जौ, चना, और कुसुम की एमएसपी में वृद्धि

केंद्र सरकार ने रबी सीजन की मुख्य फसलों में मसूर के लिए 425 रुपये प्रति क्विंटल की एमएसपी तय की है, जो पिछले वर्ष की तुलना में एक महत्वपूर्ण वृद्धि है। इसके साथ ही, जौ, चना, और कुसुम के लिए भी एमएसपी में वृद्धि की गई है, जो किसानों को अधिक मुनाफा प्राप्त करने में मदद करेगी।

एमएसपी में वृद्धि का मतलब

एमएसपी में वृद्धि का मतलब है कि किसान अब अधिक मूल्य में अपनी फसल बेच सकेंगे। इससे उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी और उन्हें अधिक आत्मनिर्भर बनाने का मौका मिलेगा। इस निर्णय से कृषि सेक्टर में सुधार होगा और उत्पादन में वृद्धि होगी।

By Yash