Israel hamas operation Iron SwordsIsrael hamas operation Iron Swords

07 अक्टूबर 2023 – हमास द्वारा 20 मिनटों में 5000 रॉकेटों के दागे जाने के बाद, इजरायल ने ‘ऑपरेशन आयरन स्वार्ड्स’ की घोषणा की है, जिसके बाद इस्राइली वायुसेना ने गाजा पट्टी में हमास के ठिकानों पर बमबारी की है। यह घड़ी तनावभरे समय में हुई घटनाओं की सीरीज का हिस्सा है, जिसमें युद्ध की स्थिति का घोषणा किया गया है।

‘ऑपरेशन आयरन स्वार्ड्स’ का आरंभ

इस्तान्बुल: हमास के ताबड़तोड़ रॉकेट हमले के बाद, इजरायल ने अपने सुरक्षा और राष्ट्रीय सुरक्षा को महत्वपूर्ण बनाते हुए ‘ऑपरेशन आयरन स्वार्ड्स’ की घोषणा की है। इस्राइली वायुसेना ने गाजा पट्टी में हमास के ठिकानों पर बमबारी की है, और इस्राइली रेस्क्यू सर्विस के मुताबिक, हमास के हमले में कम से कम 22 इजराइली नागरिकों की मौत हुई है।

We are at War – इजरायली प्रधानमंत्री का बयान

इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने इस घड़ी को “कोई मामूली ऑपरेशन नहीं” बताया है और कहा है कि उन्होंने आतंकियों का सफाया करने का आदेश दिया है। उन्होंने कहा कि इस युद्ध में हैं और इसे जीतेंगे।

इजरायली सेना के प्रवक्ता का बयान

इजरायली सेना के प्रवक्ता ने बताया कि इस ऑपरेशन को पैराग्लाइडर, समुद्री, और जमीनी माध्यम से किया गया है। वे इसमें जमीनी घुसपैठ और समुद्री हमले के बारे में भी जानकारी देते हैं और बताते हैं कि इजरायली सेना गाजा पट्टी के आसपास लड़ रही है।

हमास का ऑपरेशन ‘अल अक्सा स्टॉर्म’

इजरायल पर हमले के बाद, हमास ने एक नया सैन्य अभियान शुरू किया है, जिसका नाम “ऑपरेशन अल अक्सा स्टॉर्म” है। हमास के नेता मोहम्मद डेफ ने इसकी घोषणा की है और कहा है कि इससे फिलिस्तीनियों को इजरायल का सामना करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है।

इजरायल जीतेगा, कहते हैं दूतावास

इस्राइल के अंबेसडर नोर गिलोन ने अपने ट्वीट में कहा है कि इजरायल जीतेगा। उन्होंने कहा कि इजरायल पर दोतरफा हमला हुआ है और स्थिति सामान्य नहीं है, लेकिन इजरायल इस युद्ध में जीत हासिल करेगा।

Twitter

गाजा पट्टी-इजरायल विवाद: एक नजर में

गाजा पट्टी एक छोटा सा फिलिस्तीनी क्षेत्र है, जिसे मिस्र और इस्रायल के मध्य भूमध्यसागरीय तट पर स्थित है। यह इस्लामी आतंकवादी संगठन ‘हमास’ के द्वारा नियंत्रित किया जाता है जो इजरायल की स्थापना को मान्यता नहीं देता है। इस क्षेत्र में संघर्ष जारी है जो 1947 के बाद से इस्राइली और फिलिस्तीनी लोगों के बीच हो रहा है।

By Yash