kalash sthapana navratri 2023 Puja Vidhikalash sthapana navratri 2023 Puja Vidhi

शारदीय नवरात्रि 2023 की खास तैयारी शुरू

आश्विन मास की प्रतिपदा तिथि को हमारे लिए विशेष महत्व रखती है, क्योंकि इसी दिन शारदीय नवरात्रि का आयोजन होता है। यह नौ दिनों तक चलने वाला त्योहार है जिसमें मां दुर्गा की पूजा-अर्चना की जाती है। इस साल, नवरात्रि 15 अक्टूबर 2023 से आरंभ हो रही है, जब हमें कलश स्थापना के लिए तैयारी करनी होगी। इस खास घटस्थापना में कुछ महत्वपूर्ण बातों का ध्यान रखना चाहिए, जो हम इस लेख में जानेंगे।

कलश स्थापना का महत्व

नवरात्रि के पहले दिन का महत्वपूर्ण हिस्सा है कलश स्थापना। इसमें कलश को स्थापित करने से जुड़ी विशेष विधि और समय का पालन करना आवश्यक है। मान्यता है कि सही समय और विधि से कलश स्थापना करने से घर में सुख, संपत्ति और समृद्धि का आगमन होता है। लेकिन इस बार, ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुछ विशेष योग हैं जिनमें कलश स्थापित करना शुभ नहीं माना गया है। ये योग चित्रा नक्षत्र और वैधृति योग हैं।

शुभ मुहूर्त और विधि

इस बार, 15 अक्टूबर 2023 को सुबह 11 बजकर 9 मिनट से लेकर 11 बजकर 56 मिनट तक अभिजीत मुहूर्त है, जो कलश स्थापना के लिए सबसे शुभ माना जाता है। इस समय किसी भी कलश स्थापना करना शुभ माना गया है। इसके साथ ही, वैधृति योग 14 अक्टूबर 2023 को सुबह 10 बजकर 25 मिनट पर लगेगा, जो कलश स्थापना के लिए अशुभ माना गया है।

कलश स्थापना की सही विधि:

  • सुबह जल्दी उठें और स्नान करें। साफ वस्त्र पहनें।
  • घर के मंदिर को साफ करें और उसे फूलों से सजाएं।
  • एक मिट्टी के कलश में पानी भरें और उसमें सिक्का, सुपारी और आम का पत्ता डालें।
  • एक लाल कपड़ा बिछाकर उसपर चावल का ढेर बनाएं और उस पर कलश स्थापित करें।
  • कलश पर कलावा बांधें और स्वास्तिक प्रतीक बनाएं।
  • एक मिट्टी के बर्तन में मिट्टी और जौ मिलाएं और उसे भी स्थापित करें।
  • अब मंदिर में मां दुर्गा की प्रतिमा रखें और सभी देवी-देवताओं को आह्वान करें।
  • सबसे पहले गणेश जी की पूजा करें और सभी मां दुर्गा समेत सभी देवी-देवताओं की आरती करें।

इस नवरात्रि, इन सावधानियों का पालन करें और मां दुर्गा की कृपा पाएं। हमेशा ध्यान रखें कि यह शुभ मुहूर्तों का पालन करके ही पूजन में सफलता मिलती है। नवरात्रि की आपको और आपके परिवार को शुभकामनाएं!

[Disclaimer: इस आलेख में दी गई जानकारी सामान्य ज्ञान के लिए है और हमेशा विशेषज्ञ की सलाह लेनी चाहिए।]

By Yash